अष्टाङ्ग भैरव / Ashtanga Bhairav Mantra

एक प्रमुख अवतार हैं जिनके भयभीत के रूप में जाना जाता है। इनका मंदिर काशी विश्वनाथ के पास है और इनका पूजन विशेष रूप से शिवरात्रि पर किया जाता है। इनकी पूजा और मंत्र जाप से भक्त को शक्ति, साहस, और सफलता प्राप्त होती है।

अष्टाङ्ग भैरव मंत्र :

|| ॐ ह्रीं वाम भैरवाय नमः ||

  1. शक्ति, साहस, और सफलता
  2. जीवन में सुख-शांति
  3. मानसिक और आध्यात्मिक शांति
  4. स्थिरता और आत्म-साक्षात्कार

अष्टाङ्ग भैरव के मंत्र का जाप शिवरात्रि, इसके अलावा, सोमवार या रविवार के दिन भी इस मंत्र का जाप किया जा सकता है।

About Ashtanga Bhairav Mantra:

Ashtanga Bhairav is a fierce form of Lord Shiva, known for his immense power and protection. He is often worshipped for courage, strength, and success.

|| Om Hreem Vam Bhairavaya Namah ||

  1. Power and Courage
  2. Success
  3. Protection
  4. Spiritual Growth

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *