Loading...

कपाल भैरव / Kapaala Bhairav Mantra

दरिद्रता व संकट नाशक कपाल भैरव, भगवान शिव के एक रुद्र रूप हैं। वे दरिद्रता, भय, और संकट का नाश करने के लिए पूजे जाते हैं। उनके मंत्र का उच्चारण और पूजन साधक को शक्ति, साहस, और सफलता प्रदान करने में मदद कर सकते हैं

कपाल भैरव का मंत्र:

  • || ॐ भ्रं क्रोध मुखाय भैरवे नमः ||
  • अष्टमी, ग्रहण, शनिवार, अमावस्या, भैरव जयंती.
  1. भय, संकट, और दुर्भाग्य का नाश होता है।
  2. साधक को शक्ति, साहस, और सफलता प्राप्त होती है।
  3. उन्हें मानसिक और आध्यात्मिक शांति मिलती है।
  4. उनका मानसिक स्थिरता और उत्साह बढ़ जाता है।
  5. उनके कार्यों में धैर्य और समर्पण बढ़ जाता है।
  6. साधक को सम्पूर्ण सफलता प्राप्त होती है।

About Kapaala Bhairav Mantra:

The Kapaala Bhairava mantra is a powerful invocation used to seek the blessings of Kapaala Bhairava, a fierce form of Lord Shiva.

|| Om Hreem Krodh Mukhyay Kapalin Hoon Phat Swaha ||

believed to bestow power, courage, and success upon the devotee, helping them attain their life goals. It is also believed to destroy poverty, fear, and troubles, leading to a more stable and prosperous life.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP