Loading...

माता गजलक्ष्मी / Gaj lakshmi mantra for wealth

माता गजलक्ष्मी

माता गजलक्ष्मी, हिंदू धर्म में देवी लक्ष्मी के आठ रूपों (अष्टलक्ष्मी) में से एक हैं। उन्हें धन, समृद्धि, वैभव, सौभाग्य और ऐश्वर्य की देवी माना जाता है. गज लक्ष्मी मंत्र का जप करने से हर तरह का सुख व ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है

माता गजलक्ष्मी का स्वरूप:

  • उन्हें कमल पर विराजमान दिखाया जाता है, और उनके दोनों ओर गज (हाथी) होते हैं।
  • वे चार भुजाओं वाली होती हैं। ऊपरी दो भुजाओं में वे कमल धारण करती हैं, और निचली भुजाएँ प्रायः अभयमुद्रा और वरदमुद्रा में दिखाई जाती हैं।
  • दोनों हाथियों को देवी के ऊपर अपने सूंड़ से पानी डालते हुए चित्रित किया जाता है।

गजलक्ष्मी का मंत्र लाभ:

  • धन-समृद्धि की प्राप्ति के लिए उनकी पूजा की जाती है।
  • व्यवसाय में सफलता के लिए भी उनकी उपासना की जाती है।
  • वैवाहिक जीवन में सुख-शांति के लिए भी उनका आशीर्वाद मांगा जाता है।
  • हाथियों को ज्ञान और बुद्धि का प्रतीक माना जाता है, इसलिए गजलक्ष्मी को विद्या और बुद्धि की देवी के रूप में भी पूजा जाता है।

गजलक्ष्मी से जुड़े प्रमुख पूजन और व्रत:

  • आश्विन कृष्ण अष्टमी के दिन गजलक्ष्मी व्रत किया जाता है
  • गजलक्ष्मी मंत्रः ॥ॐ श्रीं गजलक्ष्मेय श्रीं स्वाहा॥
  • मुहुर्थः शुक्रवार, गुरु पुष्य नक्षत्र, होली, दीपावली.

About Mata Gajlakshmi :

Mata Gajlakshmi is one of the eight forms of the Hindu goddess Lakshmi, the goddess of wealth, prosperity, and fortune.

Benefits of Worshipping :

Chanting the Mata Gajlakshmi Mantra is believed to have many benefits, like:

|| Om Shree Gajalakshmeya Shree Swaha ||

  • Attracting wealth and prosperity
  • Removing obstacles and challenges
  • Achieving success in business
  • Promoting happiness and well-being
  • Gaining knowledge and wisdom
  • Receiving protection from evil

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP