Loading...

Yogini sadhana shivir at vajreshwari

योगिनी शब्द का अर्थ:

अलौकिक शक्ति व मनोकामना पूरी करने वाली “योगिनी” शब्द संस्कृत शब्द “योग” से बना है, जिसका अर्थ है “जोडने वाली” योगिनी का अर्थ है “वह स्त्री जो योग से जोडती है आपको”

BOOKING- YOGINI SADHANA SHIVIR

योगिनी का इतिहास:

योगिनियों का इतिहास प्राचीन भारत से जुड़ा हुआ है। योगिनी का उल्लेख हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म और जैन धर्म में मिलता है।

योगिनी के प्रकार:

योगिनी सैकडो प्रकार की होती हैं, जो कि अलग अलग संप्रदायों से जुडी होती है.

  • बौद्ध योगिनी: ये योगिनियाँ बौद्ध धर्म से जुड़ी होती हैं और ध्यान और ज्ञानोदय प्राप्त करने के लिए योग का अभ्यास करती हैं।
  • अघोर योगिनी: ये योगिनियाँ अघोर पंथ से जुड़ी होती हैं और तांत्रिक क्रियाओं में विशेषज्ञ होती हैं।
  • नाथ योगिनी: ये योगिनियाँ नाथ पंथ से जुड़ी होती हैं और योग विद्या में निपुण होती हैं।

योगिनी की शक्तियां:

योगिनियों को अलौकिक शक्तियों के लिए जाना जाता है। वे उड़ सकती हैं, अदृश्य हो सकती हैं और भविष्य की भविष्यवाणी कर सकती हैं।

योगिनी की पूजा:

योगिनियों की पूजा भक्तों को शक्ति, ज्ञान और आध्यात्मिक उन्नति प्राप्त करने में मदद करने के लिए की जाती है।

योगिनी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें:

  • योगिनियाँ स्त्री शक्ति का प्रतीक हैं।
  • योगिनियाँ आध्यात्मिक ज्ञान और शक्ति प्राप्त करने का मार्ग दिखाती हैं।
  • योगिनियाँ भक्तों को जीवन में चुनौतियों का सामना करने और उन्हें दूर करने में मदद करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP