Loading...

Bagalamukhi mantra

छुपे शत्रुओ से बचाने वाली माता बगलामुखी

बगलामुखी दस महाविद्याओं में से आठवीं महाविद्या हैं। इनकी पूजा शत्रु पर विजय प्राप्त करने, वाद-विवाद में सफलता पाने, और मोह-माया से मुक्ति पाने के लिए की जाती है।

बगलामुखी का स्वरूप:

  • बगलामुखी माता को पीले रंग की वस्त्र पहने हुए, कमल के आसन पर विराजमान दर्शाया जाता है। उनके दाहिने हाथ में गदा और बाएं हाथ में वरद मुद्रा होती है।
  • देवी की शक्ति को स्तंभन शक्ति कहा जाता है, जिसके द्वारा वे शत्रुओं को स्तंभित कर देती हैं. ये अपने भक्त को षडयंत्र व शत्रुओ से बचाकर मनोकामना पूर्ण करती है.
  • बगलामुखी मंत्रः ॥ॐ ह्ल्रीं बगलामुखी सर्व दुष्टानां वाचम् मुखम् पदम् स्तंभय जीव्हा कीलय बुद्धि विनाशय ह्ल्रीं ॐ स्वाहा॥
  • मुहुर्थः मंगलवार, बगलामुखी जयंती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP