Loading...

उन्मत्त भैरव / Unmattha Bhairava Mantra

उन्मत्त भैरव, जिन्हें भैरव के उन्मत्थ स्वरूप के रूप में जाना जाता है, हिंदू धर्म में एक प्रमुख अवतार हैं। उन्हें भयंकर और उन्मत्थ रूप में पूजा जाता है। जिसका जाप करने से भक्त को शक्ति, साहस, और सफलता प्राप्त होती है।

उन्मत्थ भैरव का मंत्र:

  • || ॐ भ्रं उन्मत्थाय नमः ||
  • मुहुर्थः अष्टमी, ग्रहण, अमावस्या, भैरव जयंती.
  1. शक्ति और साहस की प्राप्ति
  2. सफलता की प्राप्ति
  3. भूत-प्रेत शांति
  4. रोग निवारण
  5. संतान सुख

About Unmatta Bhairava Mantra:

The Unmattha Bhairava mantra is a powerful mantra dedicated to Lord Bhairava in his fierce form.

|| Om bhram Unmatthaya Namah ||

  • Strength and Courage
  • Success
  • Protection from Negative Forces
  • Health Improvement
  • Family Harmony

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP