Loading...

वराह विष्णु / Varaha Vishnu Mantra (Third Incarnation)

आत्मशाक्षात्कार का अनुभव करने वाले भगवान वाराह, श्री विष्णू के दस प्रमुख अवतारों में से वराह अवतार तीसरा अवतार है। वराह शब्द का अर्थ “सूकर ” होता है। इस अवतार में भगवान विष्णु ने विशाल सूकर का रूप धारण किया था।

वराह विष्णु मंत्र: || ॐ नमो भगवते वराहाय नमः ||

  • स्थिरता, सुरक्षा, और धर्म के प्रति भक्ति
  • कर्तव्यों के प्रति समर्पण में वृद्धि
  • आध्यात्मिक अभ्यास में सहायक
  • आत्म-साक्षात्कार की दिशा

About Varaha Vishnu Mantra:

According to Hindu scriptures, Varaha Avatar is the third incarnation among the ten major incarnations of Lord Vishnu. The word Varaha means “boar”. In this incarnation Lord Vishnu took the form of a huge boar.

|| Om Namo Bhagwate Varahay namaha ||

  • Promotes stability, security, and devotion to religion.
  • Increases dedication towards duties and brings a more positive attitude.
  • Helpful in spiritual practice.
  • Leads a person towards self-realization.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

INR
USD
EUR
AUD
GBP
INR
USD
EUR
AUD
GBP